Bihar Krishi Input Anudan Yojana | कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन

Bihar Krishi Input Anudan Yojana

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन

Bihar Krishi Input Anudan Yojana :- कृषि इनपुट अनुदान योजना बिहार सरकार द्वारा बिहार राज्य के किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू किया गया एक योजना है, इस योजना के अंतर्गत राज्य किए जिन किसानों की फसलें बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित हुई है उनकी फसलें को काफी नुकसान हुआ है उन किसानों को सरकार द्वारा प्रति हेक्टेयर अधिकतम ₹13500 की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी, इस Bihar Krishi Input Anudan Yojana के अंतर्गत राज्य के कुछ ही जिले शामिल है। अपने जिला का नाम देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

Bihar Krishi Input Anudan Yojana

Bihar Krishi Input Anudan Yojana

Dbt agriculture Bihar के द्वारा कृषि इनपुट सब्सिडी योजना भारत सरकार द्वारा अधिसूचित प्राकृतिक आपदाओं एवं राज्य सरकार द्वारा स्थानीय आपदाओं के अधीन निर्धारित सहायता मापदंडों के अनुरूप दिया जाएगा कृषि इनपुट सब्सिडी स्कीम 2020। के अंतर्गत राज्य के जिन किसानों को बाढ़ ओलावृष्टि अतिवृष्टि से फसल की छाती हुई है, या वर्षा आश्रित सिंचित फसल क्षेत्र के लिए 68 सो रुपए प्रति हेक्टेयर, तथा वर्षा रहित सिंचित क्षेत्र के लिए 13500 प्रति हेक्टेयर किधर से दिया जाएगा तथा कृषि योग्य भूमि जहां बालू सेठ का जमाव 3 इंच से अधिक हो उस क्षेत्र के लिए ₹12200 प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान बिहार सरकार द्वारा दिया जाएगा।

धान अधिप्रप्ति (2020-21) हेतु आवेदन Click Here

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 का उद्देश्य

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि राज्य के बहुत से ऐसे लोग जो खेती करते हैं और किसानों की फसल के प्राकृतिक आपदाओं की वजह से भारी नुकसान उठाना पड़ता है जिसकी वजह से कई किसान तो आत्महत्या कर लेते हैं इन सभी परेशानियों को देखते हुए बिहार सरकार ने कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 को शुरू किया इस योजना के अंतर्गत वर्षा आंधी ओलावृष्टि अतिवृष्टि से हुई फसल छाती का किसानों को सरकार द्वारा प्रति हेक्टेयर 13500 की दर से अनुदान राशि दिया जाएगा इस योजना के जरिए किसानों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान की बिहार सरकार द्वारा भरपाई की जाएगी।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना की नई अपडेट

वर्ष 2020 में अप्रैल के महीने में जिन किसानों की औलाद बारिश और प्राकृतिक आपदाओं के कारण रवि की फसल को नुकसान हुआ है उन सभी किसानों की भरपाई के लिए बिहार सरकार ने राज्य के किसानों को कृषि अनुदान देने का निर्णय लिया है मार्च माह में रवि फसल की छाती के लिए जो किसान इस योजना बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत आवेदन नहीं कर पाए हैं उनके लिए बिहार सरकार एक और मौका प्रदान कर रही है

Bihar Krishi Input Anudan Yojana योजना के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत असिंचित क्षेत्र में फसल के लिए 68 सो रुपए प्रति हेक्टेयर और सिंचित क्षेत्र के किसानों के लिए ₹13500 प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाएगा।
  • कृषि योग्य भूमि जहां बालू सेठ का जमाव 3 से अधिक और उन क्षेत्रों के लिए ₹12200 प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाएगा
  • एक किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर तक के लिए अनुदान प्राप्त कर सकता है।
  • बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 के अंतर्गत प्रभावित किसानों को इस योजना में न्यूनतम ₹1000 अनुदान दिया जाएगा।
Krishi input subsidy Yojana के अंतर्गत सब्सिडी की राशि डीबीटी के माध्यम से दी जाती है ऐसी स्थिति में आपके खाते में पैसा आधार कार्ड के माध्यम से भेजा जाता है कि जिस बैंक खाते में आपका आधार लिंक होता है उसे खाते में आपका पैसा जाता है।
राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन सभी किसानों को योजना के तहत आवेदन डीबीटी पोर्टल पर जाकर करना होगा।

इनपुट अनुदान योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका जिला सूखाग्रस्त हुआ है या नहीं यदि नहीं तो इसकी जानकारी अपने ब्लॉग में जाकर कृषि समन्वयक किसान सलाहकार से प्राप्त कर सकते हैं।

Bihar Krishi Input Anudan Yojana के आवेदन करने के लिए डॉक्यूमें

  • अभी तक बिहार का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • किसान के पास खेती करने योग्य भूमि होनी चाहिए।
  • वही बटाईदार के पास वास्तविक खेतिहर प्लस स्वयंभू धारी की स्थिति में भूमि के दस्तावेज के साथ स्वघोषणा पत्र संलग्न करना अनिवार्य होगा।
  • खेती के दस्तावेज।
  • एलपीसी जमीन रसीद वंशावली जमाबंदी विक्रय पत्र होना चाहिए।
  • मोबाइल नंबर।
  • Passport size photo

 

Link Bihar Krishi Input Anudan Yojana

Online Apply Link 1 | Link 2 | Link 3
Panchayat List Click Here
Official Website Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *