Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana का सभी जानकारी

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana

इस पोस्ट में आपको Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana के बारे में सभी जानकारी दिया गया है, क्या होता है, कितना पैसा मिलता है, कैसे आवेदन किया जाता है, क्या दस्तावेज लगता है सभी जानकारी हैं |

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana

प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों को कई बार फसलों का काफी नुकसान उठाना पड़ता है इस वजह से किसानों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है जिससे कि वह सही से खेती नहीं कर पाते हैं इस समस्या का समाधान करने के लिए बिहार सरकार ने Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana का आरंभ किया है आज हम आपको इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सहित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां आपके साथ साझा करने जा रहे हैं जैसे कि बिहार राज्य फसल सहायता योजना क्या है इसके लाभ क्या होते हैं उद्देश्य विशेषताएं पात्रता महत्वपूर्ण दस्तावेज एवं आवेदन प्रक्रिया क्या है तो दोस्तों यदि आप बिहार राज्य फसल सहायता योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी आप तक शेयर करने जा रहे है।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana महत्वपूर्ण जानकारी

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana का आरंभ बिहार में खेती करने वाले किसानों के फसल को प्राकृतिक आपदाएं जैसे कि बाढ़ सुखाड़ आदि से बचाने के लिए आरंभ की गई है इस योजना के अंतर्गत यदि किसानों की खेती को किसी प्राकृतिक आपदाओं के कारण कोई नुकसान पहुंचता है तो उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत किसान की फसल वास्तविक उत्पादन में 20% तक का नुकसान होने पर प्रति हेक्टेयर 75 ₹100 प्रदान किए जाएंगे और यदि नुकसान 20% अधिक होता है तो प्रति हेक्टेयर ₹10000 प्रदान किए जाएंगे इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली धनराशि सीधे किसान के बैंक अकाउंट में स्थानांतरण की जाएगी बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए किसानों का बैंक अकाउंट होना अति आवश्यक है तथा बैंक अकाउंट को आधार कार्ड से लिंक होना भी आवश्यक है, फसल सहायता योजना के लिए आरंभ हुए निबंधन बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत 2020 21 की रवि फसल के लिए निबंधन शुरू हो गए हैं जो कि 3 दिसंबर 2020 को सहकारिता विभाग के निबंधन करवाने की अधिसूचना जारी कर दी है इस योजना के अंतर्गत किसानों को किसी भी प्रकार की प्रीमियम का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है फसल के नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी सभी किसान जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर लॉगइन कर आवेदन करना होगा यह निबंधन गेहूं मक्का चना मसूर अरहर राई सरसों एक प्याज एवं आलू की फसलों के लिए नुकसान की भरपाई के लिए की जाएगी सरकार द्वारा निबंधन की अलग-अलग फसलों के लिए अलग-अलगतारीख ए से प्रदान की गई है वह सभी किसान जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें अंतिम तिथि से पहले निबंधन करवाना होगा।

फसलों की की जाएगी भरपाई 

गेहूं तथा मक्का के राज्य में 38 जिलों के पंच स्तरीय किया गया है इसके अलावा चना मसूर अरहर राई सरसों एक प्याज एवं आलू की जिला स्तर पर अधिसूचित किया गया है। यदि चने की फसल का नुकसान होता है तो राज्य के 17 जिला के भरपाई की जाएगी मसूर की फसल पर नुकसान होता है तो 35 जिलों की भरपाई की जाएगी।

है तो 16 जिला के भरपाई किया जाएगा ।
राय तथा सरसों की फसल को राज्य के सभी जिला को भरपाई किया जाएगा प्याज की फसल का नुकसान हो होता है तो 14 जिलों की भरपाई की जाएगी तथा आलू की फसल का नुकसान होता है तो 15 जिलों की भरपाई की जाएगी।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत यदि नुकसान 20% कम होता है तो छतिपूर्ति 7500 रुपए प्रति हेक्टेयर,प्रत्येक किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर के लिए इस योजना का लाभ उठा सकता है यदि 20 30 30 से ज्यादा नुकसान होता है तो ₹10000 प्रति हेक्टेयर की दर से भरपाई सरकार के द्वारा की जाएगी।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2020-21 एप्लीकेशन फॉर्म

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana के अंतर्गत राज्य के किसानों को फसलों के बर्बाद होने पर मिलने वाली धनराशि के लिए किसी भी तरह का प्रीमियम नहीं भरना होगा बिहार राज्य में अधिकतर लोग किसानी करते हैं राज्य में धान की फसल से लेकर तिलहन की फसल तक की खेती बड़ी मात्रा में होती है Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2020-21 के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को खरीफ की फसल तथा रवि की फसल के मौसम में ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होता है जो इच्छुक लाभार्थी बिहार के किसान फसल सहायता योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आप अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया हमने आपको पहले इस पेज पर बताई है।

फसल सहायता योजना हेतु निम्नलिखित कागजात की स्व-प्रमाणित प्रति होना आवश्यक हैं |

रैयत कृषक के लिए
1. भू-स्वामित्व प्रमाण पत्र (Land Possession Certificate) (1 MB से कम होना चाहिए )
2. स्व-घोषणा प्रमाण पत्र (400 KB से कम होना चाहिए )

 फसल सहायता योजना हेतु रैयत कृषक द्वारा दिया जाने वाला स्व-घोषणा प्रमाण पत्र की प्रति को डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें(केवल रैयत कृषक के लिए)
रैयत कृषक एवं गैर रैयत दोनों कृषक के लिए
1. भू-स्वामित्व प्रमाण पत्र (Land Possession Certificate) (1 MB से कम होना चाहिए )
2. स्व-घोषणा प्रमाण पत्र (400 KB से कम होना चाहिए )

 फसल सहायता योजना हेतु रैयत कृषक एवं गैर रैयत कृषक दोनों कृषक द्वारा दिया जाने वाला स्व-घोषणा प्रमाण पत्र की प्रति को डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें(केवल गैर रैयत कृषक के लिए)

1. तस्वीर (50 kB से कम होना चाहिए )
2. पहचान पत्र (भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त) (400 KB से कम होना चाहिए और पीडीएफ (PDF) प्रारूप में होना चाहिए)
3. बैंक पासबुक के प्रथम पृष्ट की प्रति (400 KB से कम होना चाहिए और पीडीएफ (PDF) प्रारूप में होना चाहिए)
4. आवासीय प्रमाण पत्र (400 KB से कम होना चाहिए और पीडीएफ (PDF) प्रारूप में होना चाहिए)

Link For Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana

Online Apply Super Fast Open

Link 1 Link 2 | Link 3Link 4 | Link 5

Offical Link Click Here
Dhan Adhiprapti Yojna Bihar Click Here
Updated: February 10, 2021 — 11:04 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *